Gautam Buddha Quotes in Hindi - गौतम बुद्ध के अनमोल विचार

गौतम बुद्ध का जन्म ईस्वी पूर्व 563 को लुंबिनी , नेपाल मे हुआ था। ये बौद्ध  धर्म के संस्थापक और महान विचार रखने वाले व्यक्ति थे। अपने सिद्धान्त से इनहोने काफी लोगो के जीवन मे परिवर्तन लाया। इनहोने लोगो को सीख दी कभी किसी की हत्या न करो, कभी किसी के साथ बुरा मत करो , कभी झूठ मत बोलो , लालच से दूर रहो और भी बहोत सारी अच्छी बातें दुनिया मे फैलाई है गौतम बुद्ध ने जिसे आज भी माना जाता है और लोग इन्हे पूजते है । 

गौतम बुद्ध के अनमोल विचार


गौतम बुद्ध ने धर्म और संसार के लिए बहोत बड़ा योगदान दिया है और अपनी पीछे बहोत सारी बातें छोड़ गए जिससे हम कुछ सीख कर कुछ अच्छा कर सकते है । मै इस पोस्ट मे गौतम बुद्ध की कुछ अनमोल विचार को share करने जा रहा हूँ , आप इसे केवल पढे ही नहीं अमल भी करे जिससे आपको लाभ जरूर होगा।



गौतम बुद्ध के अनमोल विचार

1. अपने मन को जितना हजारो युद्धों को जीतने से अच्छा है ,इसमे हमेशा तुम्हारी ही जीत है जो तुमसे कोई नहीं ले सकता ।


2. अपने शरीर को स्वश्थ रखना तुम्हारी duty है  क्यूकी अच्छे शरीर मे ही अच्छा दिमाग रेहता है।


3. शांति हमेशा अंदर से आती है इसे बाहर मत ढूंढो।


4. कभी मत देखो क्या हो गया है , मै हमेशा देखता हूँ क्या करना है अभी ।


5. जो अच्छे से जिया है उसे मौत से भी डर नहीं लगता ।


6. कोई भी गलत चीज़ गलत सोच से ही आती है ।


7. समुन्द्र बूंद -बूंद से भर्ता है ।


8. इंसान का दिमाग ही उसका सबसे बड़ा दोस्त और दुश्मन है ।


9. जो करना है आज ही कर लो क्या पता कल ज़िंदगी रहे न रहे ।


10. देते चलो चाहे तुम्हारे पास बहोत कम ही क्यूँ न हो ।


11. अपने बुराई करने वालों को अपने पास रखो और उससे सीखो तुम एक अनमोल खजाना बन जाओगे ।


12. न भूतकाल की सोचो , ना भविष्य की चिंता करो , अपने दिमाग को वर्तमान मे एकाग्र करो ।


13. तुम्हें तुम्हारे गुस्से के लिए दंड नहीं दिया जाएगा , तुम्हें तुम्हारे गुस्से द्वारा दंड दिया जाएगा ।


14. जो तुम सोचते हो वो तुम बन जाते हो।


15. जैसे एक मोमबत्ती बिना आग के नहीं जल सकती , इंसान भी बिना आध्यत्मिक ज्ञान के बिना नहीं रेह सकता ।


16. हर इंसान के प्रतिस्प्रधा खुद से होनी चाहिए ना की दूसरों से ।


17. चतुराई से जीने वाले लोगों को मौत से डरने की जरूरत नहीं है ।


18. जीभ एक तेज़ चाकू की तरह बिना खून निकाले ही मार देती है ।


19. बुराई से बुराई कभी खत्म नहीं हो सकती , बुराई को केवल प्रेम के द्वारा ही खत्म किया जा सकता है ।


20. जो नाराजगी युक्त विचारों से मुक्त रहते है , वही शांति पाते है ।


21. अपना कार्य खुद करो दूसरों पर निर्भर मत रहो ।


22. हर इंसान अपने भविष्य का खुद रचियता है ।


23. तीन चीज़ें लंबे समय तक नहीं छिप सकती सूर्य , चन्द्र और सत्य ।


24. जैसे लापरवाही की वजह से नरम घास भी आपके हाथ को घायल कर सकती है । उसी तरह धर्म के प्रति करी गयी लापरवाही आपको नर्क के द्वार पर पहुंचा सकती है ।


25. उसने मेरा अपमान किया , उसने मेरे साथ गलत किया , व्यक्ति इनहि बातों को कहते रहते है वह कभी जीवन मे चैन से नहीं रेह सकते । जिन लोगो ने खुद को इन बातों से ऊपर उठा लिया वही आराम से जीवन जी सकता है ।


26. जीवन वह नहीं जो हमे मिला है , जीवन वह है जो हम जीते  है।


27. हर पल जीवन का आनंद लो ।


28. वर्तमान मे जियो ।


29. अगर शरीर स्वस्थ्य नहीं है तो हम अपने दिमाग को भी मजबूत नहीं बना सकते ।


30. खुस रहना ही एक रास्ता है , खुसी पाने का ।


31. जिस तरह एक मोमबत्ती से अनेक मोमबत्ती जलायी जा सकती है , इससे मोमबत्ती का जीवन कम नहीं होता , उसी तरह खुसी बाटने से कम नहीं होती ।


32. शांति देने वाला एक शब्द एक हज़ार खोखले शब्दो से बेहतर है ।


33. हर वो चीज़ जहर है जो जरूरी से अधिक है फिर चाहे वो धन हो , भूख हो या फिर ताकत ।


34. क्रोध एक ऐसी आग है जो दूसरों का नुकसान करे या ना करे खुद का नुकसान जरूर करती है ।


35. यदि आप और के मार्ग मे प्रकाशित करते हो  तो अपने आप का रास्ता प्रकाश से भर जाता है ।


36. अपने बराबर या अपने से समझदार लोगो के साथ सफर कीजिये , अपने से कम समझदार लोगो के साथ सफर करने से अच्छा है अकेले सफर कीजिये ।


37.मूर्ख ज्ञानियों से भी नहीं सीख पाते और ज्ञानी मूर्ख से भी सीख लेते है ।


38. बुराइयों से दूर रहने का एक ही तरीका है अच्छे विचारों को अपने जीवन मे आने दीजिये ।

39. जिस तरह तुफान एक बड़े पत्थर को नहीं हिला पाता उसी तरह शांत व्यक्ति को मान - अपमान नहीं हिला पाते ।


40. हज़ार लड़ाई जीतने से अच्छा है , अपने आपको जितना ।